News Room



  • Tree Plantation With Gard

  • Comments: 0
  • in Bhiwani
  • Visits: 233
  • Last Modified: -/-
  • (Current Rating 0.0/5 Stars) Total Votes: 0

भारत विकास परिषद द्वारा आयोजित प्रांतीय महिला चेतना सम्मेलन

0 0
मुख्य संसदीय सचिव सीमा त्रिखा ने कहा कि नारी ने अपनी शक्ति सामर्थय का परिचय अंतरिक्ष से ऑलम्पिक तक दिया है। संस्कार और परिवार दोनों का आधार नारी है। उन्होंने ये विचार भारत विकास परिषद द्वारा आयोजित प्रांतीय महिला चेतना सम्मेलन में व्यक्त किये। स्थानीय सरस्वती वाटिका में उपस्थित करीब पाँच सौ महिला डेलीगेट्स के समक्ष सी.पी.एस. सीमा त्रिखा ने बताया कि आजादी के 69 वर्षों में ये पहला अवसर है कि लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री जी ने लडक़ों को भी संस्कार देने व लड़कियों/महिलाओं को शक्ति से सम्पन्न होने की अपील की है। ‘‘बेटी पढ़ाओ- बेटी बचाओ’’ के साथ उन्होंने ‘‘बेटी खिलाओ’’ का भी आह्वान किया। भारतीय वीरांगनाओं को समर्पित इस महिला सम्मेलन में अध्यक्ष श्रीमती अविनाश शर्मा ने कहा कि साक्षी मलिक व सिंधू ने नारी शक्ति का सबल उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि समाज उत्थान में नारी का योगदान अविस्मरणीय है लेकिन नारी को नारी का दुश्मन बनने की बजाये सक्षम सहारा बनना होगा। सम्मेलन की मुख्य वक्ता कलानौर की आदर्श मल्होत्रा ने अनेक प्राचीन ग्रंथों का उदाहरण देते हुए नारी शक्ति की महिमा को विस्तार से बताया। उन्होंने समाज में गिरते नैतिक मूल्यों के मद्देनजर, महिलाओं से संस्कारवान एवं समर्थ बनने को कहा।
राष्ट्रीय महामंत्री चन्द्रसैन जैन ने भारत विकास परिषद् का महिलाओं व समाज के उत्थान विषय पर विस्तार से बताया। उन्होंनेन भारत विकास परिषद् के हरियाणा में गठन से लेकर अब तक के सामाजिक कार्यों के साथ साथ महिलाओं की भागेदारी पर प्रकाश डाला तथा कहा कि बदलते सामाजिक परिदृश्य में नारी की भूमिका और भी अहम् होने वाली है। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि भाजपा के प्रांतीय महासचिव संदीप जोशी, नगर परिषद् के चेयरमैन संजय छपारिया, पूर्व चेयरमैन राजेन्द्र सांगवान ने भी अपने विचार व्यक्त किये। प्रांतीय अध्यक्ष केवल कृष्ण अरोड़ा व प्रांतीय महासचिव जियालाल बंसल ने संस्था के संगठनात्मक स्वरूप व बदलती जिम्मेवारियों पर अपना विषय केन्द्रित रखा। कार्यक्रम को रूचिकर बनाने के लिए मंच संचालन पहले सत्र में राजीव अरोड़ा, दूसरे सत्र में जियालाल बंसल व तीसरे सत्र में प्रांतीय महिला संयोजिका अनुपमा अग्रवाल ने करते हुए डेलीगेट्स प्रतिभागियों को अंत तक बांधे रखा। चरखी दादरी में आयोजित इस पहले प्रांतीय महिला चेतना सम्मेलन का मुख्य आकर्षण पुस्तक/साहित्य स्टाल पर भारी भीड़ रही। पंजीकरण, सत्रों की भागेदारी व ध्यान से सुनना आदि ऐसे केन्द्र बिंदू थे जिनमें महिलाओं की सक्रिय उपस्थिति से कार्यक्रम में उत्साह बना रहा। भाजपा महासचिव संदीप जोशी ने महिला सम्मेलन के आयोजन को समयानुकूल बताया। पूर्व चेयरमैन राजेन्द्र सांगवान ने नारी तेरे रूप अनेक कहकर नारी शक्ति को नमन किया। इस अवसर पर जीत राम गुप्ता, अरविंद मित्तल, ईश्वर चन्द्र एडवोकेट, सुरेश गोयल, रामकिशन शर्मा, राजेन्द्र शर्मा, पुरूषोत्तम, नरेन्द्र, दिनेश यादव, पवन सर्राफ, मनोज बिंदल, नितिन डालमिया, सौरभ गोयल, विशंभर गोयल, गोविंद सिंगल, राजेश गुप्ता, राकेश अरोड़ा, संजय जुनेजा, अनीता जैन, मंजू अरोड़ा, प्रभा देवी, भावना अग्रवाल, शालिनी जुनेजा, अरविंद मित्तल, विनय अग्रवाल, देवकीनंदन, विकास बेनिवाल, रविन्द्र काद्यान, श्याम सुंदर, नितिन जांगड़ा आदि स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ प्रांत भर की सैकड़ों महिलाऐं उपस्थित थी। सम्मेलन का शुभारंभ राष्ट्रगान वंदे-मातरम् तथा राष्ट्रगीत जन गण मन से हुआ। इस अवसर पर छोटे-छोटे बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करते हुए कार्यक्रम जीवंत बनाए रखा। चौथी कक्षा की छात्रा कली तथा तीसरी कक्षा की यति वत्स हिसार ने गीता श्लोक एवं काव्य पाठ के द्वारा सबका मन मोह लिया। भिवानी से रविन्द्र कौर ने लता मंगेशकर का प्रसिद्ध देशभक्ति गान-ए मेरे वतन के लोगों सस्वर सुनाकर देशभक्ति के भावों से सभी को ओतप्रोत कर दिया। संस्था के प्रधान डा.एम.के. जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Share
  • Twitter
  • del.icio.us
  • Digg
  • Facebook
  • Technorati
  • Reddit
  • Yahoo Buzz
  • StumbleUpon

No Comments Yet...

Leave a reply

Name: Required Field.
Email Address: Required Field. Not visible
Website:
Captcha Code: Required Field.
Comment: Required Field.